गुरुवार, 9 अप्रैल 2009

Shree Ganeshaya Namah


वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि: सम्प्रभु: 1

निर्विघ्नं कुरुमेदेव सर्व कार्येशु सर्वदा 11

1 टिप्पणी:

  1. अरे पहली पोस्ट में गणेश वंदना! फ़िर भी कौनौ टिप्पणी नहीं अभी तक! वाह! बहुत खूब! :)

    उत्तर देंहटाएं